11800266_516478971850034_5618766806732747386_n

नीतीश की कलम से : मोदीजी के बदलते रंग

मैं प्रधानमंत्री से अपील करता हूँ कि अपनी सकुंचित सोच से इस देश की महान परंपरा को धूमिल न करें। लोकतंत्र में हार-जीत सामान्य बात है। अत: आप बिहार में हार रहे हैं तो क्या हुआ, अपने दुर्भावों से देशवासियों का भरोसा मत गंवाइये।

11800266_516478971850034_5618766806732747386_n

नीतीश की कलम से : बिहार चुनाव में दिखा भाजपा का असली चाल चरित्र और चेहरा

घटनाएं होती रहीं, माहौल बिगड़ता रहा, पर सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाने की बजाए भाजपा के नेता हर घटना को बिहार के चुनाव में नफ़ा नुकसान के अनुसार भुनाते रहे | अब हालत यह है कि दाल महंगी है और दलित की जान सस्ती | लेखक पुरस्कार लौटा रहे हैं और पत्रकारों का सम्मान छिन रहा है | राष्ट्रपति विचलित हैं, प्रधानमंत्री चुप हैं, और देश भर में हलचल है |

11800266_516478971850034_5618766806732747386_n

नीतीश कुमार की कलम से : बिहार के विकास की मेरी गारंटी

वर्तमान अनुमानों से ज्ञात होता है कि बिहार के पास योजनागत व्यय के लिए लगभग चार लाख करोड़ का आंतरिक संसाधन उपलब्ध होगा, जिसमें से 2.7 लाख करोड़ रुपये का उपयोग इन जन-कल्याणकारी योजनाओं के लिए किया जायेगा. यदि जनता फिर से मुङो अधिकृत करे, तो मैं अगले पांच सालों में निरंतर और सुचारू रूप से कार्य कर निर्धारित समय में यह विकास लाकर दिखाऊंगा.

11800266_516478971850034_5618766806732747386_n

नीतीश कुमार की कलम से : बिहार चुनाव पर टिका देश का भविष्य

हमारे तमाम कार्यों का रिकॉर्ड जनता के पास है। हमें कई क्षेत्रों में सुधार लाने की जरूरत है लेकिन इस कार्य की बुनियाद रखी जा चुकी है, जो विकास प्रक्रिया को और आगे बढ़ाएगी। अब यह जनता को तय करना है कि वह हमें इसके लायक समझती है या नहीं। फैसला चाहे जो भी हो, मुझे जनता की सामूहिक बुद्धि और लोकतंत्र पर अटूट विश्वास है। मैं राज्य के नागरिकों को आश्वासन देता हूं कि जब तक उनका सहयोग और विश्वास मेरे और मेरी सरकार के साथ है, तब तक मैं बिना किसी रुकावट के विकास के रथ को आगे बढ़ाता रहूंगा। बिहार पुनः सर्वाधिक प्रगतिशील राज्य बनेगा और भारत को विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जाएगा।

Page 1 of 212